दिशा-ज्ञान

 
 
 

नागरिक चार्टर

जवाहर नवोदय विद्यालय मुख्य रूप से सह-शिक्षा आवासीय विद्यालय हैं । इसका उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों से बच्चों के लिए गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराना है ।
  • ग्रामीण क्षेत्रों के प्रतिभाशाली बच्चों के लिए आधुनिक गुणवत्ता युक्त शिक्षा प्रदान करना, पर्यावरण के प्रति जागरूक बनाना, शारीरिक और साहसिक शिक्षा और संस्कृति उपदेश परक मूल्यों के मजबूत घटक को विकसित करना है।
  • नवोदय विद्यालय त्रिभाषा सूत्र की परिकल्पना को सुनिश्चित करता है तथा सभी छात्रों को तीनों भाषाओं में दक्षता का उचित अवसर प्रदान करता
  • नवोदय विद्यालयों में छात्रों को कक्षा छठी में भर्ती कराया जाता है और कक्षा बारहवीं तक शिक्षा प्रदान की जाती हैं। अब कक्षा नौवीं और ग्यारहवीं में भी छात्रों को पार्श्व एंट्री के द्वारा भर्ती करने का प्रावधान किया गया है।
हमारा मिशन
  • हम मुख्य रूप से ग्रामीण क्षेत्रों के प्रतिभाशाली बच्चों को जो अच्छी शिक्षा के अवसर से वंचित हैं उनकी पहचान कर उनको प्रतिभाशाली बनाकर उनके उज्ज्वल भविष्य की परिकल्पना करते हैं ।
  • हमारा उद्देश्य सह शैक्षिक पाठयक्रम युक्त गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा को प्रभावी बनाना । साहसिक और शारीरिक गतिविधियां, तीनों भाषाओं के माध्यम से शिक्षा की योग्यता का उचित स्तर पूरा करना ।
  • हमारा उद्देश्य स्थानीय समुदाय के साथ निरंतर संपर्क के साथ अनुभव और सुविधाओं के बंटवारे के माध्यम से शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार और शैक्षिक उत्कृष्टता के केंद्र बिंदु के रूप में संबंधित जिले के साथ कार्य करना ।
हम
  • नवोदय विद्यालय समिति स्कूल शिक्षा और साक्षरता, मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार के विभाग के तहत एक स्वायत्त निकाय है सोसायटी अधिनियम, 1860 के पंजीकरण के अंतर्गत एक पंजीकृत सोसाइटी है। भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय के माननीय मानव संसाधन विकास मंत्री अध्यक्ष और माननीय राज्य मंत्री (शिक्षा) नवोदय विद्यालय समिति के उपाध्यक्ष होते हैं ।
  • जवाहर नवोदय विद्यालय देश के भाग लेने वाले सभी राज्यों और संघ शासित प्रदेशों में, जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में विद्यालय प्रबंधन समिति के माध्यम से जिला स्तर पर कार्य कर रहे हैं।
हम क्या
  • नवोदय विद्यालय केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) से संबद्ध हैं।
  • हम नि: शुल्क शिक्षा के साथ मुक्त बोर्डिंग, लॉजिंग, वर्दी , पाठ्य पुस्तकें, और स्टेशनरी आदि प्रदान करते हैं परंतु कक्षा नौवीं से कक्षा बारहवीं तक के छात्रों से मामूली शुल्क रुपए 200 / - प्रति माह नवोदय विकास निधि के रूप में वसूला जाता है। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति वर्ग, लड़कियों, विकलांग और गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों से संबंधित छात्रों को शुल्क के भुगतान से छूट दी गई है।
  • ग्रामीण क्षेत्रों से कम से कम 75% का आरक्षण व शहरी क्षेत्रों से 25%।
  • लड़कियों के लिए- 33% सीटों के आरक्षण का प्रावधान।
  • कक्षा छठी से बारहवीं तक पूरी तरह से आवासीय सह-शिक्षा स्कूल चलाते हैं।
  • सभी छात्रों के लिए चिकित्सा और स्वास्थ्य सुविधाएं नि: शुल्क प्रदान की जाती हैं ।
  • अभिभावक शिक्षक परिषद का आयोजन और उनकी अवधीय बैठकों का आयोजन ।
  • सीबीएसई द्वारा संबंधित जिला में आयोजित वस्तुनिष्ठ परीक्षा के माध्यम से कक्षा छठी में प्रवेश दिया जाता है । यह प्रावधान कक्षा नौवीं और ग्यारहवीं स्तर के छात्रों के लिए पार्श्व एंट्री के द्वारा किया गया है।
  • नवोदय विद्यालय राष्ट्रीय एकता को बढ़ावा देने के लिए कक्षा नौवीं के 30% छात्रों को भाषा के माध्यम से देश की संस्कृति, लोगों की विविधता और बहुलता को समझने का अवसर देता है ।
हम उद्देश्य
  • बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करना।
  • सह पाठयक्रम गतिविधियों की विविधता के माध्यम से बच्चों में सामंजस्यपूर्ण व्यक्तित्व का विकास कराना।
  • शिक्षकों और छात्रों के बीच अनुकूल वातावरण बनाना।
  • स्थानीय समुदाय के साथ बाह्य और आंतरिक जवाबदेही, प्रभावी नेतृत्व, आधुनिक शिक्षा तकनीकी को अपनाना ।
  • पारंपरिक और प्रसिद्ध कलाकारों की साझा मदद से छात्रों को परंपरागत कौशल सीखने और कला के माध्यम से राष्ट्रवादी संस्कार पैदा करने के लिए शिक्षा कार्यक्रम का अवसर प्रदान करना ।
  • दृढ़ अनुशासन के द्वारा शैक्षिक खोज में आत्मनिर्भरता, आत्म-मूल्यांकन,और चरित्र का निर्माण करना ।
प्रवेश
  • नवोदय विद्यालय में प्रवेश अखिल भारतीय आधार पर केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) द्वारा आयोजित एक परीक्षा के माध्यम से कक्षा छठी मे दिया जाता हैं। हालांकि, यह प्रावधान कक्षा नौवीं और ग्यारहवीं में छात्रों की पार्श्व एंट्री के द्वारा किया जाता है।
  • परीक्षा का आयोजन भारत की 20 क्षेत्रीय भाषाओं के माध्यम में होता है। हमारा उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों के प्रतिभाशाली बच्चों को प्रतिस्पर्धा के लिए सक्षम बनाना हैं है।
  • कोई भी छात्र जो कक्षा पाँचवीं मे जिले के मान्यता प्राप्त किसी भी सरकारी या गैर सरकारी स्कूल में अध्ययन कर रहा हो और उसकी उम्र 9 से 13 साल के बीच हो वह कक्षा छठी के लिए प्रवेश परीक्षा में पात्र हैं।
जानकारी के लिए उपयोग
  • नवोदय विद्यालय समिति और उसके प्रकाशनों की वार्षिक रिपोर्ट।
  • योजना और संघ के ज्ञापन की प्रतियां।
  • एनवीएस की वेबसाइट: www.navodaya.nic.in
  • टीवी के माध्यम से इस योजना का प्रचार, रेडियो, समाचार पत्र, पोस्टर आदि
शिकायत निवारण
शिकायत निवारण के लिए विद्यालय और क्षेत्रीय कार्यालय स्तर या एनवीएस मुख्यालय के निदेशक से नीचे दिए गए पते पर संपर्क किया जा सकता है।

निदेशक, लोक शिकायत
नवोदय विद्यालय समिति
बी-15, सेक्टर 62, नोएडा, उत्तरप्रदेश-201,309
ई-मेल: : navodaya@ren02.nic.in, navodaya@nda.vsnl.net.inv
हमारे ग्राहकों (राज्यों / संघ शासित) से उम्मीदें
  • नवोदय विद्यालय समित में भाग लेने वाले सभी राज्य / संघ शासित क्षेत्र कक्षा छठी से बारहवीं कक्षा तक गुणवत्ता युक्त शिक्षा के लिए सहायता प्रदान करना।
  • नवोदय विद्यालयों की स्थापना के लिए उपयुक्त भूमि मुक्त प्रदान करना।
  • 3-4 साल की अवधि के लिए नवोदय विद्यालय चलाने के लिए किराए पर लेने के लिए पर्याप्त अस्थायी आवास मुक्त में उपलब्ध कराना ।
  • बिजली, पानी, परिवहन और संचार आदि जैसी बुनियादी नागरिक सुविधाएं उपलब्ध कराना ।
  • शिक्षा के प्रयासों में समर्थन और सहयोग।